Revealed: शानदार फीचर्स से लेस है जगुआर F-Pace SVR एडिशन 1988,4 सेकंड में देती है 100km/h की स्पीड

6/4/2022 3:06:46 PM

ऑटो डेस्क: जगुआर ने हाल ही में एफ-पेस एसवीआर एडिशन 1988 एसयूवी को पेश किया है। इस एसयूवी को जगुआर एसवी बेस्पोक के डिजाइनर्स द्वारा डिजाइन किया गया है। दुनिया भर में एफ-पेस एसवीआर संस्करण 1998 की केवल 394 यूनिट की बिक्री के लिए उपलब्ध की जाएंगी।

PunjabKesari

एफ-पेस एसवीआर एडिशन 1988 के डिजाइन स्टैंडर्ड एफ-पेस के जैसा है लेकिन इसके एक्सटीरियर में कुछ नई चीजें जोड़ी गई हैं।  नए डिजाइन एलिमेंट्स में मिडनाइट एमेथिस्ट ग्लॉस पेंटवर्क, शैम्पेन गोल्ड सैटिन 22-इंच के अलॉय व्हील्स और सनसेट गोल्ड एक्सेंट इसे और खास बनाते हैं। इस एसयूवी के टेलगेट पर गोल्डन जगुआर बैज के साथ साइड पैनल पर संस्करण 1988 लोगो दिया गया है।


एफ-पेस एडिशन 1988 में सेमी-एनिलिन एबोनी लेदर अपहोल्स्ट्री, ओपन-पोर कार्बन फाइबर फिनिशर्स, डैशबोर्ड के चारों ओर सनसेट गोल्ड सैटिन, स्टीयरिंग व्हील स्पोक्स, गियर शिफ्ट पैडल और वेन्टीलेटेड फ्रंट सीटों के साथ शानदार केबिन दिया गया है। यह पिवी प्रो इंफोटेनमेंट सिस्टम, हेड-अप डिस्प्ले और स्मार्टफोन चार्जिंग पैड, अमेजन एलेक्सा इंटीग्रेशन आदि जैसी कई नई कनेक्टिविटी तकनीकों से भरा है।

PunjabKesari

एफ-पेस एसवीआर दो ड्राइव मोड के साथ कम्फर्ट और डायनेमिक के साथ आता है। कम्फर्ट ड्राइव मोड को सलेक्ट करने पर थ्रॉटल मैपिंग, गियर शिफ्ट पॉइंट, स्टीयरिंग एडजस्टमेंट और सस्पेंशन के सेटिंग को बदला जा सकता है। वहीं डायनेमिक मोड में ड्राइवर स्टॉपवॉच, जी-मीटर और पेडल ग्राफ को बदल सकता है।

PunjabKesari

एसयूवी में लेदर इंटीरियर दिया गया है जिसमें कई तरह की डिटेलिंग भी की गई है। इसमें रेड स्टिचिंग के साथ लेदर कवर्ड स्टीयरिंग व्हील, वायरलेस चार्जर और नया Pivi प्रो इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ 11.4-इंच का एचडी टचस्क्रीन भी मिलता है।

PunjabKesari

एफ-पेस एडिशन 1988 स्टैंडर्ड मॉडल में 5-लीटर, सुपरचार्ज्ड V8 इंजन है जो 542 बीएचपी की पॉवर जनरेट करता है। जगुआर के अनुसार एफ-पेस सिर्फ 4 सेकंड में 0 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है। इसकी अधिकतम रफ्तार 286 किमी प्रति घंटा है। वर्तमान में भारत में एफ-पेस एसवीआर स्टैंडर्ड मॉडल में उपलब्ध है जिसकी कीमत 1.51 करोड़ एक्स-शोरूम से शुरू होती है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Smita Sharma

Related News

Recommended News

static