इंकॉग्निटो मोड में भी क्रोम ब्राउजर कर रहा आपकी निगरानी, गूगल को लगा पांच बिलियन डॉलर का जुर्माना

6/4/2020 4:16:16 PM

गैजेट डैस्क: क्रोम ब्राउजर के जरिए प्राइवेट मोड में यूजर्स की निगरानी करने को लेकर गूगल पर एक बार फिर बड़ा जुर्माना लगा है। माना जाता है कि वेब ब्राउजर के प्राइवेट मोड में सर्च करने पर सर्च हिस्ट्री नहीं बनती है और इससे आपको ट्रैक नहीं किया जाता, लेकिन गूगल क्रोम के साथ ऐसा नहीं है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक गूगल क्रोम के जरिए incognito mode में भी आपको ट्रैक किया जाता है। हालांकि गूगल इस आरोप से इनकार कर रही है।

PunjabKesari

क्या था पूरा मामला

गूगल पर यह मुकदमा लॉ फर्म Boies Schiller Flexner ने कैलिफोर्निया के सैन जोस में दायर किया था। शिकायत में दावा किया गया है कि गूगल के लाखों यूजर्स हैं, जिन्होंने एक जून 2016 तक इंटरनेट को गूगल क्रोम के जरिए निजी मोड में इस्तेमाल किया था। गूगल को सभी अमेरिकी यूजर्स के डाटा को सेव करने का हक नहीं है।

आपको बता दें कि आमतौर पर गूगल क्रोम ब्राउजर के प्राइवेट मोड यानी इंकॉग्निटो मोड में यूजर्स की सर्च हिस्ट्री सेव नहीं होती है, लेकिन अगर गूगल चाहे तो इसे गूगल एनालिटिक्स की मदद से ट्रैक कर सकता है। इससे पहले भी गूगल पर कई बार यूजर्स के डाटा को कलेक्ट करने का आरोप लग चुका है। पिछले साल भी गूगल पर अपने अधिकार का गलत इस्तेमाल करते हुए अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के आरोप के चलते भारी भरकम जुर्माना लगा था।


Hitesh

Related News