सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स की चेतावनी, सुरक्षित नहीं हैं Philips Hue Smart Bulbs

2/6/2020 2:47:43 PM

गैजेट डैस्क: अगर आप अपने घर या ऑफिस में फिलिप्स ह्यू स्मार्ट बल्बस का यूज करते हैं तो ये आपकी जिंदगी में रोशनी की जगह अंधेरा भी ला सकता है। दरअसल, फिलिप्स ह्यू स्मार्ट बल्बस में एक बहुत ही बड़ी सुरक्षा खामी सामने आई है जिसके चलते हैकर आसानी से इन्हें कन्ट्रोल कर सकते हैं। हैकर चाहें तो इन्हें एक साथ बंद कर सकते हैं व दोबारा ऑन भी कर सकते हैं। इसके अलावा लोगों को डराने के लिए वे इसके कलर व ब्राइटनैस को भी अडजस्ट कर सकते हैं। हैकर सिर्फ 200 से 300 मीटर की दूरी से इस हैकिंग अटैक को अंजाम दे सकते हैं जोकि काफी हैरत की बात है।

 

किस तरह हैकर कर रहे ये अटैक
फिलिप्स ह्यू स्मार्ट बल्बस को हैक करने के लिए हैकर सिर्फ एक लैपटॉप व रेडियो ट्रांसमिटर का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसकी एक डैमोस्ट्रेशन वीडियो भी बनाई गई है जिसे आप नीचे देख सकते हैं।

चोरी जैसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं हैकर
ऑनलाइन टैक्नोलॉजी न्यूज वैबसाइट 9to5mac ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि फिलिप्स ह्यू बल्ब्स के नैटवर्क के साथ सिर्फ एक कम्पयूटर कनैक्ट करने के बाद हैकर पूरे नैटवर्क को आसानी से हैक कर रहे हैं। इससे चोरी जैसी वारदातों को भी आसानी से अंजाम दिया जा सकता है।

PunjabKesari

पूरे नैटवर्क पर हो सकता है अटैक

चैक प्वाइंट के रिसर्चर्स ने इस तरीके का पता लगा लिया है जिसके जरिए हैकर इस नैटवर्क अटैक को अंजाम दे रहे हैं।

  • हैकर सबसे पहले इस सुरक्षा खामी के जरिए एक कम्पयूटर की मदद से फिलिप्स ह्यू स्मार्ट बल्ब पर कन्ट्रोल करते हैं।
  • वे ट्रबलशूटिंग स्टैप का इस्तेमाल करते हुए बल्ब की सिस्टम फाइल्स को डिलीट कर देते हैं।
  • इसी बल्ब को फिर दोबारा से रीऐड करते हुए इसमें एक मालवेयर इंस्टाल कर दिया जाता है जो हैकर को ह्यू ब्रिज का कन्ट्रोल दे देता है।
  • इसके बाद हैकर इस बल्ब को कन्ट्रोल कर पाने में समर्थ हो जाता है व नैटवर्क पर अपना कन्ट्रोल पा लेता है।


ये स्मार्ट डिवाइसिस भी नहीं हैं सुरक्षित
फिलिप्स ह्यू बल्बस व अन्य स्मार्ट डिवाइसिस में उपयोग हो रहे ज़िगबी प्रोटोकोल में इस सुरक्षा खामी का पता लगा है। इसी प्रोटोकॉल का उपयोग एमेजॉन इको प्लस, सैमसंग स्मार्टथिंग्स, बैल्किन वीमो, हाइव एक्टिव हीयरिंग, येली स्मार्ट लॉक्स, हनीवैल थर्मोस्टैस्ट, बॉश सिक्योरिटी सिस्टम्स और सैमसंग क्रोमकास्ट इनफिनिटी बॉक्स में होता है। यानी इन डिवाइसिस पर भी सुरक्षा भेदता का खतरा मंडरा रहा है।


Hitesh

Related News